Pyar Ki Shayari – कभी कभी याद करने में क्या बुराई है

Tu tod de vo kasam jo tune khai hai,
kbhi kbhi yad karne me kya burai hai,
tujhe yad kiye bina rha bhi to nhi jata,
tune dil me jagah jo esi banai hai.

Pyar Ki Shayari

Pyar Ki Shayari

“तू तोड़ दे वो कसम जो तूने खाई है,
कभी कभी याद करने में क्या बुराई है,
तुझे याद किये बिना रहा भी तो नही जाता,
तूने दिल मे जगह जो ऐसी बनाई है।”

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: