मुझे फर्क नही पडता लोग मेरे बारे मे क्या सोचते है | Attitude Status

 

Attitude Status

Attitude Status 

Tufan jyada ho to kastiya bhi dub jati hai, or
aham jyada ho to hastiya bhi dub jati hai.

तूफान ज्यादा हो तो कश्तिया भी डूब जाती है,
और अहम ज्यादा हो तो हस्तियां भी डूब जाती हैं।

********

मेरी आखों की औकात नहीं कि किसी लडकी को घुर सके,
याद रहता है कि भगवान ने एक बहन मुझे भी दी है।

********

सच्चाई और अच्छाई की तलाश में चाहे पूरी दुनिया घूम लो,
अगर वह खुद में नहीं तो कहीं भी नहीं है

sachayi or achayi ki talash me chahe puri duniya ghum lo,
agar vaha khud me nhi to kahi bhi nhi hai

********

अपनी कमजोरी उन्हे ही बताये,
जो हर हाल मे मजबूती से आपके साथ खडे हो
क्यूकि रिश्ता हो या मोबाइल नेटवर्क,
न हो तो लोग गेम खेलने लगते है।

********

जिंदगी मे 2 लोगो से हमेशा दुर रहेना,
एक आडियल और दुसरा घमण्डी
क्योकी आडियल अपनी मर्जी से बात करोगा,
और घमंडी अपने मतलब से याद करेंगा।

Attitude Status

Attitude Status

पहले खुद से कहो कि तुम क्या बनोगे
और फिर वो करो जो तुम्हे करना है।

Pahale khud se kaho ki tum kya banoge
or fir vo karo jo tumhe karna hai.

********

आप अपनी मंजिल पर कभी पहुँच नहीं पायेगे,
अगर आप रास्ते में भोंकने वाले हर कुत्ते को पत्थर मारेगे।।

********

समंदर बड़ा होकर भी अपनी हद मे रहता है,
इन्सान छोटा होकर भी अपनी हद भुल जाता है।

********

मुझे रत्ती भर भी फर्क नही पडता
लोग मेरे बारे मे क्या सोचते है
मेरी जिंदगी मेरी मर्जी से चलती है
किसी दूसरे की सोच से नही।

********

बात ऐसी करो सामने वाले का दिल जीत लो,
और मुस्कुराओ ऐसे कि जैसे दुश्मन का सीना चीर दो ।

baat aisee karo saamane vaale ka dil jeet lo,
aur muskurao aise ki jaise dushman ka seena cheer do .

********

कुछ चीजें अकड़ की वजह से नहीं बल्कि,
आत्म सम्मान के लिए छोड़नी पड़ती है.

********

ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है,
क्योंकि लोगों की तो आदत होती है,
सामने से सलाम और पीछे से बदनाम करने की.

********

जुबान मेरी कड़वी है मगर दिल साफ है
कौन कब बदला है सब का हिसाब है ।

jubaan meree kadavee hai magar dil saaph hai
kaun kab badala hai sab ka hisaab hai

********

परवाह मत करो कि लोग क्या कहते हैं,
तुम्हारे घर के खर्चे लोग नहीं,
तुम खुद उठाते हो.

********

जितना हो सके खामोश रहना ही अच्छा है
क्योंकि सबसे ज्यादा गुनाह,
इंसान से जुबान ही करवाती है.

जो व्यक्ति अपनी गलती के लिए अपने आप से लड़ता है
उसे कोई नहीं हरा सकता

jo vyakti apni galti ke liye apne aap se ladta hai,
use koi nhi hara sakta

------------------------------------