Alone Shayari – उपर अकेले ही जाना है।

Ek chahat hoti hai janab APNO ke sath jine ki,
varna pata to hume bhi hai ki upar akele hi jana hai.

Alone Shayari

Alone Shayari

एक चाहत होती है जनबा अपनों के साथ जीने की,
वरना पता तो हमें भी है कि उपर अकेले ही जाना है।

------------------------------------

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: