सीढ़ियां तो उनके लिए होती है जिन्हें छत पर जाना है

 Sidhiyan to unke liye hoti hai jinhe chat pr jana hai, lekin
jinki najar aasman par ho, unhe to rasta khud banana hai
सीढ़ियां तो उनके लिए होती है जिन्हें छत पर जाना  है, लेकिन
जिनकी नजर आसमान पर हो, उन्हें तो रास्ता खुद बनाना है

 

 

------------------------------------

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: