डिग्रीया तो शेक्षिक खर्चों की रसीद मात्र हैं,

 Digreeyan to shekshik kharche ki rasid matra hai,
vastavik shiksha to vaha hai jo aacharan se jhalakti hai

डिग्रीया तो शेक्षिक खर्चों की रसीद मात्र हैं,
वास्तविक शिक्षा तो वह है जो आचरण से झलकती है

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: