जो गिरकर भी संभल जाता है, वही जीतता है बाजी

 koi girne me raji to koi girane me raji, magar
jo girkar bhi sambhal jata hai, vhi jitta hai baji
कोई गिरने में राजी तो कोई गिराने में राजी, मगर
जो गिरकर भी संभल जातता है, वही जीता है बाजी ।

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: