जो कुछ करने का ठानते है वो जुटते है पूरी ताकत से

 jo kahate hai ki kuch karne ka samay hi nhi milta,
vo sach kyo nhi kahate ki kuch karne ka man hi nhi karta
ya kuch karne ka jajba nhi hai waqt ka dosh nhi hai bas
kuch yun hai ki khud me hi josh nhi hai yad rakho vo jo
kuch karne ka thante hai vo jutate hai puri takat se or samay ko ghol kar pi jate hai

जो कहते है कि कुछ करने का समय ही नही मिलता,
वो सच क्यों नही कहते कि कुछ करने का मन ही नही करता
या कुछ करने का जज्बा नही है वक्त का दोष नही है बस
कुछ यूँ है कि खुद में ही जोश नही है याद रखो वो जो
कुछ करने का ठानते है वो जुटते है पूरी ताकत से और समय को घोल कर पी जाते है

Leave a Reply

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: