इश्क कर लीजिए, बेइंतेहा किताबों से

 ishq kar lijiye, beintahan kitabo se
ek yhi hai jo apni bato se palata nhi karte
इश्क कर लीजिए, बेइंतेहा किताबों से
एक यही है जो अपनी बातों से पलटा नहीं करते ।

Leave a Reply

%d bloggers like this: