अपनी वाणी को वीणा बनाएं बाण ना बनाएं

 Apni vani ko vina banaye ban na banaye kyoki
vina banegi, to jivan me sangit hoga,
ban banegi to jivan me mahabharat hogi
अपनी वाणी को वीणा बनाएं बाण ना बनाएं क्योंकि
वीणा बनेगी तो जीवन में संगीत होगा,
बाण बनेगी तो जीवन में महाभारत होगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: